गायत्री प्रजापति का पासपोर्ट रद्द, लुक आउट नोटिस भी जारी

गायत्री प्रजापति का पासपोर्ट रद्द, लुक आउट नोटिस भी जारी

Updated: March 4, 2017, 6:41 PM IST
facebook Twitter google skype
बलात्कार के आरोप में फरार चल रहे समाजवादी पार्टी के नेता गायत्री प्रजापति का पासपोर्ट चार हफ्ते के लिए रद्द कर दिया गया है. साथ ही गायत्री के खिलाफ गैर जमानती वॉरंट भी जारी किया गया है. गायत्री के खिलाफ लुक आउट नोटिस भी जारी कर दिया गया है.
इससे पहले यूपी के कद्दावर मंत्री गायत्री प्रजापति के उत्तराखंड में छिपे होने की आशंका को देखते हुए उत्तराखंड पुलिस ने कमर कस ली है. सूत्रों के मुताबिक यूपी पुलिस की दो टीमें गायत्री की तलाश में उत्तराखंड पहुंच चुकी हैंं. डीजीपी गणपति का कहना है कि इस पूरे मामले पर पूरी मुस्तैदी से नजर रखी जा रही है. डीजीपी ने कहा कि अगर उत्तरप्रदेश पुलिस को जरूरत पड़ी तो उत्तराखंड पुलिस पूरी मदद करेगी.
गायत्री प्रजापति का पासपोर्ट रद्द, लुक आउट नोटिस भी जारी
रेप के आरोपी यूपी के कद्दावर मंत्री और सपा नेता गायत्री प्रजापति के उत्तराखंड में छिपे होने की आशंका को देखते हुए उत्तराखंड पुलिस ने कमर कस ली है. डीजीपी एमए गणपति का कहना है कि इस पूरे मामले पर पूरी मुस्तैदी से नजर रखी जा रही है. (फोटो साभार: ट्विटर न्यूज)
उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रजापति रेप के एक मामले में फरार चल रहे हैं. बताया गया है कि यूपी पुलिस की करीब एक दर्जन टीमें इस वक्त गायत्री प्रजापति की तलाश कर रही हैं. पुलिस महकमे से जुड़े एक अहम सूत्र कि माने तो यूपी पुलिस की दो टीमें गायत्री प्रजापति की तलाश में उत्तराखंड पहुंच चुकी हैं. बताया गया है कि एक टीम कुमाऊं और दूसरी गढ़वाल के कईं ठिकानों पर गायत्री प्रजापति की तलाश में जुटी हैं. नेपाल से लगे उत्तराखंड सीमा पर भी नजर रखी जा रही है.
शनिवार को डीजीपी एमए गणपति से जब यूपी के विवादित मंत्री गायत्री प्रजापति के उत्तराखंड में कहीं छिपे होने को लेकर सवाल किया गया तो डीजीपी एमए गणपति ने कहा है कि अभी तक यूपी के मंत्री के उत्तराखंड में होने की जानकारी नहीं है. इस मामले पर पुलिस पूरी मुस्तैदी से नजर रखे हुए है. डीजीपी ने कहा कि अगर यूपी पुलिस को जरूरत पड़ी तो उत्तराखंड पुलिस इस मामले में पूरी मदद करेगी.
गौरतलब है कि उत्तरप्रदेश, दिल्ली, हरियाणा और पंजाब के वांछित पहले भी उत्तराखंड को शरणगाह के रूप में इस्तेमाल करते रहे हैं. हाल ही में पंजाब में नाभा जेल ब्रेक करने के बाद अरोपी उत्तराखंड में ही छिपे थे. यूपी के कईं चर्चित अपराधी भी पूर्व में उत्तराखंड को ठिकाना बना चुके हैं. साथ ही अपराधी कई बार इसलिए भी उत्तराखंड को ठिकाना बनाते हैं कि यहां से बनबसा बॉर्डर होते हुए नेपाल जाना आसान है.