AGRA में हिंदू संगठनों के 500 नेताओं के खिलाफ डकैती, आगजनी और 307 का मामला

AGRA में हिंदू संगठनों के 500 नेताओं के खिलाफ डकैती, आगजनी और 307 का मामला

आगरा। फतेहपुर सीकरी और सदर थाने पर हमलाकर पुलिसकर्मियों की पिटाई और आगजनी के मामले में भाजपा और हिंदू संगठनों के पदाधिकारियों पर कानूनी फंदा कस गया है। पुलिस ने दो मुकदमे दर्ज कर 14 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। इसमें विहिप और बजरंग दल के पदाधिकारी भी शामिल हैं। मुकदमों में 38 लोग नामजद किए गए हैं, जबकि 450 अज्ञात हैं। पुलिस इनकी पहचान कर गिरफ्तारी के प्रयास कर रही है। हमलावरों को लेकर शासन का भी कड़ा रुख है। संघ ने भी ब्रज क्षेत्र में विहिप और बजरंग दल के प्रदर्शनों पर पांच साल की रोक लगा दी है।

जानकारी के मुताबिक शनिवार को सीकरी में संघ प्रचारक समेत नौ के खिलाफ डकैती और जानलेवा हमले के मुकदमे को खत्म कराने को लेकर शुरू हुआ बवाल सीकरी से सदर थाने तक पहुंच गया। शनिवार रात को सदर थाने की हवालात से आरोपियों को छुड़ाने में नाकाम रहने पर हिंदू संगठन और भाजपा कार्यकर्ताओं ने रास्ते में दारोगा की पिटाई कर रिवॉल्वर लूटी और बाइक भी फूंक दी।
दोनों मामलों में शनिवार रात दो बजे के बाद पुलिस ने अपनी ओर से सरकारी कार्य में बाधा, पुलिसकर्मियों से मारपीट, तोड़फोड़, बलवा, लोक व्यवस्था भंग करने समेत अन्य गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया। सदर थाने में दर्ज मुकदमे में पुलिस ने 9 लोगों को गिरफ्तार कर लिया।
फतेहपुर सीकरी से बजरंग दल के प्रांतीय पदाधिकारी जगमोहन चाहर और विहिप के पश्चिमी जिला संयोजक सागर समेत पांच पहले ही गिरफ्तार कर लिए गए थे। रविवार सुबह दस बजे पुलिस ने सभी 14 आरोपियों को रिमांड मजिस्ट्रेट के सामने पेश कर जेल भेज दिया। बवाल के बाद पुलिस को थाने पर 67 वाहन खड़े मिले थे। इनमें चार पहिया और दोपहिया दोनों थे।      साभार bhopal samachar