महाकाली विसर्जन में पथराव, पुलिस के आधा दर्जन वाहन आग के हवाले

महाकाली विसर्जन में पथराव, पुलिस के आधा दर्जन वाहन आग के हवाले

Saamana न्यूज़ नेटवर्क।
जबलपुर। मन्नत महाकाली लटकारी का पड़ाव वाली माता का विसर्जन नर्मदा में रोके जाने से भक्तों ने उपद्रव कर दिया। जिसके बाद पूरे क्षेत्र में भगदड़ मच गई। पथराव हो गया। साथ ही आधा दर्जन से अधिक वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया। पुलिस ने मामला संभालने के लिए लाठीचार्ज भी किया।
मौके पर भारी पुलिस बल तैनात हो गया है। शहर के सभी आला अधिकारी घटना स्थल पर पहुंच गए हैं। घायलों की संख्या अभी स्पष्ट नहीं हो पाई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार माता महाकाली विसर्जन के लिए ग्वारीघाट जा रहीं थीं। तभी झंडा चौक के पास पुलिस ने वाहन को रोक लिया। वे ग्वारीघाट के बजाए कुंड में विसर्जन की बात कह रहे थे। इस पर माता के भक्त बिफर गए। पुलिस के अधिकारियों ने समिति सदस्यों से बातचीत करना शुरू की। वही ट्रक चालक ने ट्रक स्टार्ट किया और गाड़ी आगे बढ़ा दी, जिससे ट्रक सीधे वहां खड़ी जेसीबी से टकराया इसके बाद कुछ उपद्रवियों व अतिउत्साही युवकों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। चंद ही मिनटों में माहौल भक्तिमय से दंगे में बदल गया। पुलिस बल ने पहले समझाइस दी, लेकिन जब भक्त नहीं माने तो आंसू गैस के गोले छोड़े गए। साथ ही पुलिस ने लाठीचार्ज कर भीड़ को तितर बितर कर दिया।  पुलिस की अपेक्षा भीड़ अधिक होने से पर वह बेकाबू हो गई। जिससे पुलिस के मौके पर मौजूद आधा दर्जन वाहनों को पलटाने समेत आग के हवाले कर दिया गया। माहौल बिगड़ता देख आसपास की सभी दुकानें बंद हो गईं। साथ ही घरों में लोग दुबक गए। कंट्रोल रूप में सूचना मिलते ही भारी पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। आसपास के थानों से भी बल स्थिति को नियंत्रण में करने पहुंचा। अंतत: पथराव आधा घंटे बाद रुका। जब तक एक दर्जन से अधिक आमजन व पुलिस अधिकारी कर्मचारी घायल हो चुके थे। मौके पर एसपी व कलेक्टर भी पहुंच गए हैं। अंत में महाकाली को ग्वारीघाट ले जाने की अनुमति दे दी गई। ग्वारीघाट में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।