कोरोना वायरस के चलते शासन प्रशासन के साथ-साथ पत्रकार भी मैदान में, कहीं खाना तो कहीं माकस बाटते नजर आए।

कोरोना वायरस के चलते शासन प्रशासन के साथ-साथ पत्रकार भी मैदान में, कहीं खाना तो कहीं माकस बाटते नजर आए।

शेख़ नदीम@ रिपोर्टर सामना टीवी

भोपाल। कोरोना वायरस के चलते शासन प्रशासन दिन-रात ताबड़तोड़ मेहनत करके लोगों  लोगों को इस महामारी से बचाने के लिए प्रयास कर रहा है और गरीब बेसहारों को फुटपाथ ओं और उनके घरों पर खाना पहुंचा रहा है वहीं दूसरी ओर मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के जाने-माने पत्रकार जाहिद मीर जो कि बहुत ही विनम्र स्वभाव के हैं पत्रकारिता के साथ-साथ समाज की सेवा में भी हमेशा तत्पर रहते हैं ।


कोरोना महामारी के चलते पत्रकारिता जगत में तो अपनी ड्यूटी पूरी इमानदारी से कर ही रहे हैं साथ ही पैदल चलकर सड़कों के किनारे लोगों को जागरूक भी कर रहे हैं उन्हें सोशल डिस्टेंस बनाने एवं हाथों को सैनिटाइज करने और घरों में रहने की सलाह भी दे रहे हैं साथ ही कई गरीब बेसहारा  लोगों को खाना भी पहुंचा रहे हैं ।
Add caption

आपको बता दें  जाहिद मीर पहले से ही सोशल वर्किंग में आगे रहे हैं और कोरोना महामारी के चलते वह किसी के बिना  डोनेशन के  अपने खर्च पर लोगों को माकस और खाना मुहैया करा रहे हैं साथ ही लोगों को जागरूक भी कर रहे हैं कि वह सोशल डिस्टेंस बनाए रखें ...हाथों को सैनिटाइज करते रहें ...बिना जरूरत बाहर ना निकले ... लोकडाउन का पालन करें।
Add caption
वहीं दूसरी ओर पत्रकार एम के आजाद को भी रात के अंधेरों में लोगों की खिदमत करते देखा गया वह भी फुटपाथ पर रहने वालों को और गरीब निर्धन लोगों को घर घर जाकर खाना मुहैया करा रहे हैं ।
मुनिस खान एक पत्रकार होने के साथ-साथ एक सोशल वर्कर भी हैं मानव अधिकारों के लिए भी कार्य करते हैं काफी कम उम्र से वे यह काम कर रहे हैं 



आज़ाद ने कहा यह प्रेरणा अपने घर से ही मिली ऐसे पत्रकारों को भारत सलाम करता है जो ऐसी महामारी में भी अपने कार्य के साथ कर्तव्य भी निभा रहे हैं। जय हिन्द