छत्रसाल महाविद्यालय में इतिहास विभाग का रंगारंग स्नेह सम्मेलन संपन्न

छत्रसाल महाविद्यालय में इतिहास विभाग का रंगारंग स्नेह सम्मेलन संपन्न

                            छात्र छात्राओं ने दी रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुतियां


छत्रसाल शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय पन्ना के इतिहास विभाग में स्नातकोत्तर पूर्वार्ध एवं उत्तरार्ध के विद्यार्थियों द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इतिहास विभाग के स्नेह सम्मेलन के इस अवसर पर कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि वरिष्ठ प्राध्यापक एवं प्रभारी प्राचार्य डॉ. पी पी गौर ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता विभाग अध्यक्ष डॉ.क्टर श्रीमती उषा मिश्रा ने की। कार्यक्रम का संयोजन एवं संचालन प्राध्यापक डॉ. विनय श्रीवास्तव द्वारा किया गया।
    कार्यक्रम के प्रारंभ में स्वस्तिवाचन डॉ. एसएस राठौर द्वारा किया गया। सरस्वती वंदना कुमारी रामलली एवं कविता सिंह रोल द्वारा प्रस्तुत की गई। इस रंगारंग कार्यक्रम में स्नातकोत्तर कक्षाओं उत्तीर्ण कर चुके पूर्व विद्यार्थियों ने भी सहभागिता की और कार्यक्रम प्रस्तुत किए। इतिहास विभाग की पूर्व छात्रा कुमारी अमर ज्योति घोसी द्वारा एक भजन और एक गजल प्रस्तुत की गई जिसे विद्यार्थियों ने भरपूर सराहना दी। इतिहास विभाग की ही पूर्व छात्रा कुमारी रचना पौराणिक एवं कुमारी अनुमेहा आर्य द्वारा आकर्षक नृत्य प्रस्तुत किया गया। स्नातकोत्तर पूर्वार्ध की छात्राएं कुमारी शिवानी दहायत, रोशनी दहायत, सृष्टि राजा परमार, बबली पटेल, अनुमेहा आर्य, वंदना अहिरवार, कुमारी नेहा दहायत, कुमारी रोशनी गुप्ता, सत्यम प्रजापति, वर्णिका सिंह, एवं शिवानी द्वारा समूह गान एवं विभिन्न रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। छात्र राकेश प्रजापति ने इस अवसर पर रेसलिंग की विधा में अपनी उपलब्धियों की चर्चा की। कुमारी पूजा विश्वकर्मा द्वारा छात्र-छात्राओं के कार्यक्रम का संचालन में सहयोग किया गया। कुमारी पूजा एवं कुमारी अमर ज्योति ने इतिहास विभाग की स्मृतियों को जीवंत करते हुए भाव विवान होकर कार्यक्रमों को याद किया।
    इस अवसर पर डॉ.क्टर उषा मिश्रा ने विद्यार्थियों को शुभकामनाएं देकर उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। संयोजक डॉ. विनय श्रीवास्तव ने विद्यार्थियों की उपलब्धियों को सराहा और कहा कि सांस्कृतिक कार्यक्रम बहुमुखी प्रतिभा का प्रदर्शन होते हैं।अपने छात्र जीवन में किए गए सांस्कृतिक कार्यक्रमों की याद जीवन भर अमित रहती है। इस अवसर पर स्नातकोत्तर पूर्वार्ध के विद्यार्थियों द्वारा उत्तरार्ध के विद्यार्थियों को स्मृति चिन्ह भेंट किए गए। इतिहास विभाग के प्राध्यापक डॉ. एसके पटेल ने आभार प्रदर्शन किया। इस अवसर पर महाविद्यालय के वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ.क्टर उमा त्रिपाठी, डॉ.क्टर सरोजनी अग्रवाल, डॉ.क्टर पी पी मिश्रा, श्री नाथ त्रिपाठी, डॉ. राजीव सिंह, एस एस परमार, डॉ. रजनीश चौरसिया, सिद्धू सिंह सहित महाविद्यालय के विभिन्न विभागों के छात्र-छात्राएं भी उपस्थित थे। इतिहास विभाग द्वारा छात्र-छात्राओं के सांस्कृतिक कार्यक्रमों की गूंज पूरे महाविद्यालय में रही और विद्यार्थियों ने इस प्रकार के आयोजनों को भरपूर सराहना दी। कार्यक्रम का विस्तृत संचालन डॉ. विनय श्रीवास्तव ने किया।