स्वास्थ्य कर्मी ने कोविड-19 का इलाज करा रही महिला को जड़ा थप्पड़

स्वास्थ्य कर्मी ने कोविड-19 का इलाज करा रही महिला को जड़ा थप्पड़

Good Treatment Facility Incresing In Jaipuriya Hospital... - इस ...
लातूर। महाराष्ट्र के लातूर में एक सरकारी अस्पताल में कोविड-19 का इलाज कर रही महिला को एक स्वास्थ्य कर्मी ने थप्पड़ मार दिया। महिला के बेटे ने यह दावा किया है, जिसके बाद जिला प्रशासन ने मामले की जांच का आदेश दिया है।

एक अधिकारी ने सोमवार को कहा कि मामले की जांच के लिए एक समिति का गठन किया गया है।

यह कथित घटना एक ऑडियो क्लिप के सोशल मीडिया पर सामने आने के बाद प्रकाश में आई, जिसमें महिला कथित रूप से 8 अगस्त को खुद पर हुए हमले के बारे में अपने बेटे को बता रही है।

ऑडियो क्लिप में 55 वर्षीय महिला अपने बेटे को कहती सुनाई दे रही है कि जब उसने बेचैनी होने पर स्वास्थ्य कर्मी को ऑक्सीजन की सप्लाई खोलने के लिए कहा तो उसने उसे थप्पड़ मार दिया। महिला के बेटे ने कहा जब उसने अपनी मां को तबीयत पूछने के लिए फोन किया तब उन्होंने यह बातें बताईं।
अधिकारी ने कहा कि लातूर जिले की शिरूर अनंतपाल तहसील के सकोल गांव की निवासी महिला को 7 अगस्त कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद उसी दिन सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

विलासराव देशमुख सरकारी चिकित्सा विज्ञान संस्थान के डीन डॉक्टर मोहन दोइबले ने सोमवार को कहा कि सीसीटीवी कैमरों में ऐसी कोई घटना कैद नहीं हुई है, लेकिन जिला प्रशासन के आदेश पर 4 सदस्यीय जांच समिति गठित कर दी गई है।
दोइबले ने कहा कि जिलाधिकारी जी श्रीकांत ने जांच का आदेश दिया है। आदेश के अनुसार हमने इस मामले की जांच के लिए चार सदस्यीय समिति गठित कर दी है। दोइबले का संस्थान ही अस्पताल का प्रबंधन देखता है।

महिला के बेटे ने कहा कि मैंने जिलाधिकारी जी श्रीकांत को घटना के बारे में बताया है और उन्होंने इस मामले की जांच का आश्वासन दिया है। मैंने ई मेल के जरिये मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को भी शिकायत भेजी है।
महिला के बेटे ने कहा कि उसकी मां को सोलापुर में स्थित एक निजी अस्पताल भेज दिया गया है, जहां उनकी हालत नाजुक बनी हुई है।