उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुई जघन्य बलात्कार की घटना के खिलाफ ऑल इंडिया महिला सांस्कृतिक संगठन ने विरोध प्रदर्शन किया

उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुई जघन्य बलात्कार की घटना के खिलाफ ऑल इंडिया महिला सांस्कृतिक संगठन ने विरोध प्रदर्शन किया

मध्यप्रदेश  भोपाल 30 सितंबर को बोर्ड ऑफिस चौराहे पर उत्तर प्रदेश के हाथरस में 19 वर्ष की छात्रा के साथ हुई जघन्य बलात्कार की घटना के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया गया जिसमें भोपाल के तमाम छात्र नौजवान महिलाएं बड़ी संख्या में शामिल हुए ऑल इंडिया महिला सांस्कृतिक संगठन, ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स, ऑर्गेनाइजेशन ऑल इंडिया,  डेमोक्रेटिक यूथ ऑर्गेनाइजेशन और सोशलिस्ट यूनिटी सेंटर ऑफ इंडिया कम्युनिस्ट पार्टी द्वारा विरोध प्रदर्शन किया किया गया प्रदर्शन को संबोधित करते हुए ऑल इंडिया महिला सांस्कृतिक संगठन की जिला सचिव आरती शर्मा और ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक स्टूडेंट ऑर्गेनाइजेशन के भोपाल जिला इंचार्ज राहुल सरकार ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक यूथ आर्गेनाइजेशन के उपाध्यक्ष विजय शर्मा व सोशलिस्ट यूनिटी सेंटर ऑफ इंडिया कम्युनिस्ट पार्टी की जिला कमेटी सदस्य जोली‌ सरकार व अन्य वक्ताओं ने अपनी बात रखी वक्ताओं ने बताया की 

दिनांक 30. 09.2020 को‌ उत्तर प्रदश में एक 19 वर्षीय महिला के साथ हुए जघन्य सामूहिक बलात्कार की निंदा करते हुए ब्यान जारी  करते हुए कहा कि जहाँ पहले से ही बलात्कार और महिला उत्पीड़न की हदें पार  हो चुकी हैं, वहाँ आज फिर से एक महिला‌ के जीवन को अपराधों और अत्याचारों की बली चढ़ा दिया दी गया है।

गत 14 सितंबर को उत्तर प्रदेश के हाथरस में चार दबंगो ने एक महिला के साथ पाशविक बलात्कार  ही नहीं किया बल्कि अत्याचारों की सारी सीमाएं लांघते हुए   उसकी जीभ काट दी और उसकी रीढ़ की हड्डी को बुरी तरह से क्षतिग्रस्त करके  उसे जिंदगी और मौत के बीच जूझने के लिये छोड़ दिया। महिला को अलिगढ मैडिकल कॉलेज में  भर्ती करवया गया, उनकी हालत में सुधार ना होने के बाद उसे सफदरजंग अस्पताल दिल्ली में  ले जाया गया,  जहा पर  29 सितंबर को उसकी मृत्यु हो गयी है। मौत के बाद पुलिस ने महिला के शव को अभी तक भी परिवार वालों के हवाले नहीं किया है।

Up पुलिस और up सरकार का रवैया बहुत ही असंवेदनशील और निंदनीय रहा है,घटना की कई दिनों तक आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया गया । अभी हाल ही में  चारों आरोपियो को गिरफ्तार किया  गया है।  बहुत ही शर्मनाक है कि आरोपियों के दबंग और प्रभावशाली होने के कारण राजनीतिक संरक्षण के कारण पुलिस ने उन्हें  हर प्रकार से बचाने की कोशिश की है। 

उत्तर प्रदेश में तथा पूरे देश भर में महिलाओं पर हो रहे अत्याचारों से यह साबित हो रहा है कि योगी और  मोदी सरकार और संघ परिवार  पुरुष प्रधान मानसिकता के चलते  महिलाओं को मात्र एक उपभोग की वस्तु समझते हैं, यहाँ तक कि उन्हें एक दूसरे दर्जे का इंसान समझ जाता है, जिसके कारण महिलाओं पर होने वाले अत्याचारों के प्रति हमारे प्रधान मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के तमाम नेता किस हद तक असंवेदनशील हैं,यह इस बात से साफ नजर आता है कि अपराधियों को  उदाहरण मूलक सजा देने के मामले में सिर्फ कोताही ही नहीं बरती जाती बल्कि, अपराधियों को बचाने की भी पूरी कोशिश की जाती है।इसके अलावा अश्लीलता और शराबखोरी का बेरोक टोक प्रचार किया जाता है, जिससे  एक तरफ जहां अपराधियो के हौंसले बुलंद होते हैं वही दूसरी तरफ महिलाओं और बच्चियों की सुरक्षा को भी खतरे में डाला जा रहा है। 

आल इंडिया महिला सांस्कृतिक संगठन भोपाल और ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइजेशन ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक यूथ ऑर्गेनाइजेशन सोशलिस्ट यूनिटी सेंटर ऑफ इंडिया कम्युनिस्ट पार्टी महिला की मौत पर   गहरा दुःख और संवेदना व्यक्त करते हुए  सरकार से मांग करते हैं----

1. 14 सितंबर को उत्तर प्रदेश की हाथरस में 19 वर्ष की छात्रा के साथ वीभत्स बलात्कार की दरिंदों को फांसी की सजा दी जाए


2.उत्तर प्रदेश में छात्रा के साथ गैंगरेप की  घटना के मामले की सुनवायी  फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में की जाए  ।

2.अश्लीलता ,अपसंस्कृति और

 शराबखोरी पर पूर्ण पाबंदी लगाई जाए।

3. पीड़िता द्वारा एफ आई आर दर्ज करवाने के लिए थाने पहुंचने पर पुलिस प्रशासन द्वारा एफ आई आर दर्ज न करने की पुलिस अधिकारियों पर सख्त कार्रवाई की जाए।

4. रेप गैंगरेप के मामले में तुरंत एफ आई आर दर्ज की जाए

विरोध प्रदर्शन का संचालन सोनम शर्मा ने किया और जुझारू नारों के साथ विरोध प्रदर्शन समाप्त किया गया और जनता से अपील की गई इस प्रकार की जघन्य घटना के खिलाफ खिलाफ छात्र नौजवान महिलाएं एक जुझारू आंदोलन करे और अपराधियों को फांसी की सजा दिलाएं   

निवेदक

आरती शर्मा, जिला सचिव 

ऑल इंडिया महिला सांस्कृतिक संगठन भोपाल