नाबालिग बेटियों संग मिलकर की पति की हत्या, शव को फेंका गड्ढे में

नाबालिग बेटियों संग मिलकर की पति की हत्या, शव को फेंका गड्ढे में

सोते हुए पति की गला दबाकर हत्या कर दी


nabaliq betiyo ke sath milkar ki pati ki hatya , gla dbakar ki pati ki hatya


नोएडा के एक महिला ने अपनी दो नाबालिग बेटियों के साथ मिलकर सोते हुए पति की गला दबाकर हत्या कर दी। हत्या के बाद उन्होंने शव को गड्ढे में फेंक दिया था। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार, मोरना बस स्टैंड के पास झुग्गी में रहने वाली महिला ने अपनी दो नाबालिग बेटियों के साथ मिलकर सोते हुए पति की गला दबाकर हत्या कर दी। आरोप है कि उसने अपने पति की शराब की लत और मारपीट से तंग आकर इस वारदात को अंजाम दिया। आरोपियों ने हत्या के बाद शव को झुग्गी से करीब 100 मीटर दूर ले जाकर एक गड्ढे में फेंककर कूढ़े और प्लास्टिक सीट से ढंक दिया। पुलिस ने महिला सहित दोनों नाबालिग बेटियों को गिरफ्तार कर लिया है।

थाना पुलिस को सुबह सूचना मिली थी कि एक व्यक्ति का शव मोरना बस स्टैंड के नजदीक एक गड्ढे में पड़ा है। सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। आसपास के लोगों से पूछताछ के दौरान मृतक की पहचान मूलरूप से मुरादाबाद के कांड स्थित गांव उमरी निवासी अनिल कुमार (50 वर्षीय ) के रूप में हुई। पुलिस ने सुबह बताया कि अधिक शराब पीने की वजह से अनिल की मौत हुई है। जब पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में आई तो खुलासा हुआ कि रस्सी या चुन्नी से गला दबाकर अनिल की हत्या की गई है।


पत्नी से सख्ती से पूछताछ की तो खुलासा हुआ

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस ने मृतक की पत्नी पीका देवी को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की। पूछताछ के दौरान पीका देवी ने बताया कि उसने अपनी दो बेटियों के साथ मिलकर पति की हत्या की है। उसने बताया कि पति रात में शराब के नशे में चारपाई पर सो गया था। सोने के दौरान ही उसकी गला दबाकर हत्या की गई। फिर शव को झुग्गी से कुछ दूरी पर एक गड्ढे में फेंक दिया। शव को ढंकने के लिए उस पर कूड़ा और प्लास्टिक की सीट डाल दी। मृतक के पैर नजर आने पर राहगीरों ने पुलिस को सूचना दी थी।


शराब की लत और पिटाई से परेशान थी

पुलिस पूछताछ में महिला ने बताया कि अनिल शराब पीने का आदी था। वह आए दिन पत्नी और दोनों बेटियों के साथ मारपीट करता था। इससे परेशान होकर उन्होंने अनिल की हत्या कर दी। पुलिस ने हत्या का केस दर्जकर पत्नी व दोनों बेटियों को गिरफ्तार कर लिया। बेटियों को महिला एवं बाल सुधार गृह में भेजा गया है। एक बेटी की उम्र 16 और दूसरी की 14 वर्ष है।

बस स्टैंड के सुलभ शौचालय का सफाईकर्मी था अनिल

गुरुवार रात करीब एक बजे वारदात को अंजाम दिया गया। वारदात स्थल से करीब 200 मीटर दूर ही मोरना पुलिस चौकी है। जांच में पता चला है कि मृतक मोरना बस स्टैंड के सुलभ शौचालय का सफाई कर्मचारी था। पुलिस ने मृतक के परिजनों को भी घटना की जानकारी दी है।

''पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सामने आया है कि गला दबाकर हत्या की गई है। शराब की लत और मारपीट से परेशान होकर अनिल की पत्नी ने अपने बेटियों के साथ मिलकर हत्या की है। आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया गया है।'' -रणविजय सिंह, एडीसीपी