बुंदेलखंड में किसानों व पिछड़ों की नाराजगी, यादवों की आवाज़ दबाने की कोशिश कर रही भाजपा

बुंदेलखंड में किसानों व पिछड़ों की नाराजगी, यादवों की आवाज़ दबाने की कोशिश कर रही भाजपा

yadavo ki awaaz dabane ki kosish kar rahi bhajapa, bundelkhand me kisano va pichdo ki narazgi

बुंदेलखंड में किसानों व पिछड़ों की नाराजगी, बड़ामलहरा विधानसभा क्षेत्र में यादवों की आबाज दबाने की कोशिश कर रही भाजपा: बुंदेलखंड के दिग्गज नेता, जनपद पंचायत मोठ के अध्यक्ष चरण सिंह यादव पर दर्ज हुईं एफआईआर से आक्रोश


चरण सिंह यादव वर्ष 2013 में समाजवादी पार्टी से टीकमगढ़ विधानसभा क्षेत्र तथा वर्ष 2018 में बसपा से पन्ना विधानसभा क्षेत्र से लड़ चुके विधानसभा का चुनाव

पंकज पाराशर छतरपुर
मध्य प्रदेश में छतरपुर जिले का बिधानसभा क्षेत्र बड़ामलहरा उपचुनाव रोचक होता जा रहा है । जहां हार के डर से बौखलाई भाजपा ने बुंदेलखंड के दिग्गज नेता, उत्तर प्रदेश मध्य प्रदेश में पिछड़ा वर्ग के लिए संघर्ष करने वाले, झांसी जिले की जनपद पंचायत मोठ से 40 वर्षों में अधिपत्य निर्विरोध अध्यक्ष चरण सिंह यादव के ऊपर प्रशासन ने फर्जी आपराधिक प्रकरण बनाकर दस हजार रुपये का इनाम घोषित किया है। चरण सिंह यादव वर्ष 2013 में समाजवादी पार्टी की टिकट पर टीकमगढ़ विधानसभा क्षेत्र तथा वर्ष 2018 में बसपा की टिकट पर पन्ना विधानसभा क्षेत्र से विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं। ज्ञात हो बडामलहरा विधानसभा क्षेत्र मे भाजपा ने टीकमगढ़ जिले में भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष अभय प्रताप सिंह यादव के पिता अखंड प्रताप सिंह यादव को बहुजन समाज पार्टी से टिकट दिलवाकर यादव समाज के बोट बांटने का प्रयास किया, पिछड़ा वर्ग की अगुवाई करने वाले पूर्व मंत्री हर्ष यादव, छतरपुर जिले में जिला पंचायत सदस्य दिनेश यादव, जिला पंचायत सदस्य कल्याण यादव, मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश सचिव गगन यादव आदि यदुवंशी यादवों  की सक्रियता के चलते यादवों का झुकाव काग्रेस की ओर बढता गया। बडामलहरा मे पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ केे साथ हुई आम सभा मे उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में पिछड़ा वर्ग के लिए लिए संघर्षरत चरण सिंह यादव ने कांग्रेस का दामन थामा जिससे भाजपा के अखंड प्रताप सिंह यादव को बसपा से चुनाव लडाने और यादव समाज के बोट को बांटने की रणनीति फैल साबित होती दिख रही है। जिससे सत्ता के इशारे पर पुलिस प्रशासन ने हाल ही मे कांग्रेस की सदस्यता लेने बाले चरण सिंह यादव के ऊपर आपराधिक प्रकरण दर्ज कर इनाम घोषित कर दिया। 

अब सबाल उठता है कि अगर चरण सिंह आपराधिक प्रक्रति के थे तो उन पर पूर्व मे प्रकरण क्यों नही बनाया गया ?

क्या भाजपा नेता यादव समाज की आबाज को दबाने की कोशिश कर रहे हैं ? 


क्या भाजपा इस प्रकार से चुनाव जीतेगी य जनता मे इस प्रकार के अवानवीय क्रत्य से और आक्रोश बढेगा ?


पंकज पाराशर छतरपुर