लूटने के बाद सरेराह ऑटो चालक पर पेट्रोल डालकर लगा दी आग

लूटने के बाद सरेराह ऑटो चालक पर पेट्रोल डालकर लगा दी आग

 लूटने के बाद सरेराह ऑटो चालक पर पेट्रोल डालकर लगा दी आग, राहगीरों ने बचाया

मध्य प्रदेश। राहगीरों ने जलता देख उस पर पानी डाला और गीले कपड़े से आग बुझाकर एंबुलेंस की मदद से अस्पताल भिजवाया। पीड़ित के भाई ने युवकों के नाम भी लिए हैं। घटनास्थल से कुछ दूरी पर ही पुलिस की गाड़ी खड़ी थी। जूनी इंदौर के थाना इंचार्ज भरत सिंह ठाकुर के अनुसार सिंधी कॉलोनी में देर रात रिक्शा चालक संतोष खुबानी सड़क किनारे जल रहा था। उसकी चीख सुनकर लोगों ने गीला कपड़ा लपेटकर आग बुझाई। उसके मोबाइल से परिजन और एंबुलेंस 108 को सूचना दी गई।

जब तक एंबुलेंस पहुंची, परिजन भी पहुंच गए। अमर ने बताया कि उसका भाई संतोष एक टिफिन सेंटर के लिए काम करता है। उसके पास 15 हजार रुपए थे। रात में सिंधी कॉलोनी में टिफिन छोड़ने गया था। गली नंबर 7 के पास उसका ऑटो खड़ा था। जैसे ही वह बगीचे के पास पहुंचा प्रिंस, लोकेश व एक अन्य ने उसे घेर लिया, पैसे छीने और मारपीट की। वह खुद को बचाकर ऑटो की ओर भागा तो गली के आखिरी छोर पर गिराकर उस पर पेट्रोल छिड़क दिया और आग लगा दी। 

अमर का कहना है कि आरोपियों ने पहले भी उसे पीटा था, लेकिन पुलिस ने ध्यान नहीं दिया। 

वहीं थाना इंचार्ज का कहना है कि जांच की जा रही है। परिजन ने जो आरोप लगाए हैं, उसमें एक आरोपी को हिरासत में ले लिया गया है। पता चला है कि आरोपी और फरियादी दोनों नशा करते थे। इसी को लेकर उनका विवाद चलता था।