व्हाट्सएप यूजर्स से इस तरह 'स्वीकार' कराएगा नई पॉलिसी, 15 मई तक स्वीकार करनी होगी पॉलिसी

WhatsApp will 'accept' such a new policy from users, the policy will have to be accepted by May 15

इंस्टेंट मैसेजिंग एप व्हाट्सएप (Whatsapp) जल्द आने वाली प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर काफी विवादों में रहा है। कई यूजर्स का मानना है कि इससे उनका पर्सनल डेटा फेसबुक के साथ शेयर कर दिया जाएगा। विवाद को बढ़ता देख नई पॉलिसी को कुछ दिन के लिए टाल दिया गया था। WABetaInfo की मानें तो व्हाट्सएप के नए नियम 15 मई से लागू होगें। वहीं, एक अन्य रिपोर्ट में सामने आया है कि व्हाट्सएप ने यूजर्स को पॉलिसी समझाने और इसे 'स्वीकार' कराने का एक नया तरीका ढूंढ लिया है।

इस तरह अपनी पॉलिसी समझाएगा व्हाट्सएप
व्हाट्सएप अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी पर फैले भ्रम से लड़ने के लिए एक नया तरीका अपनाने जा रहा है। रिपोर्ट की मानें, तो आने वाले हफ्तों में व्हाट्सएप अपने एप पर एक बैनर दिखाना शुरू करेगा जो यूजर्स को पॉलिसी से जुड़ी डीटेल्स समझाएगा। यह बैनर चैट के ठीक ऊपर होगा, जिसमें लिखा होगा, 'हम नियम और प्राइवेसी पॉलिसी को अपडेट कर रहे हैं। पढ़ने के लिए टैप करें।' इसपर टैप करने से पूरी पॉलिसी डीटेल के साथ खुल जाएगी। यहीं पर इसे स्वीकार (Accept) करने का ऑप्शन भी मिलेगा। 

नए बैनर फीचर के बारे में व्हाट्सएप ने अपने ब्लॉगपोस्ट में कहा, 'हम चाहते हैं कि सभी यूजर्स एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन का बचाव करने के हमारे इतिहास को जानें और विश्वास करें कि हम लोगों की प्राइवेसी और सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं। अभी हम यूजर्स को समझाने के लिए व्हाट्सएप के स्टेटस फीचर का ही इस्तेमाल कर रहे हैं। आने वाले समय में हम दूसरे तरीके भी अपनाएंगे।'

15 मई तक स्वीकार करनी होगी पॉलिसी
ब्लॉग में कहा गया है बैनर के जरिए हम यूजर्स को याद दिलाएंगे कि व्हाट्सएप इस्तेमाल करते रहने के लिए अपडेट्स को पढ़ें और स्वीकार करें। यूजर्स को 15 मई तक यह अपडेट स्वीकार करना होगा। व्हाट्सएप ने यह भी साफ किया है कि 'पर्सनल मैसेज हमेशा एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड होंगे, इसलिए व्हाट्सएप उन्हें पढ़ या सुन नहीं सकता है।'

दूसरे एप्स पर जाने वालों को व्हाट्सएप की सलाह
व्हाट्सएप ने कहा 'इस दौरान, कई लोगों ने दूसरे एप्स की तरफ रुख किया है। हमने देखा है कि हमारे कुछ विरोधी यह दावा करने करते हैं कि वे लोगों के मैसेज नहीं देखते। हमारा कहना है कि जो एप डिफ़ॉल्ट रूप से एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन की सुविधा नहीं देते, वे आपके मैसेज पढ़ सकते हैं। कुछ अन्य एप्स कहते हैं वे बेहतर हैं क्योंकि उन्हें व्हाट्सएप से भी कम जानकारी है। हमारा मानना है कि लोग ऐसे ऐप्स की तलाश में हैं जो विश्वसनीय और सुरक्षित दोनों हों, चाहे इसके लिए व्हाट्सएप को सीमित डेटा की ही जरूरत क्यों न हो।' 

आ रहा नया लॉगआउट फीचर
बता दें कि WABetaInfo ने रिपोर्ट में बताया कि व्हाट्सएप जल्द ही नया लॉगआउट फीचर भी लाने वाला है। इस फीचर के जरिए यूजर्स जब चाहें एप से लॉगआउट कर पाएंगे। यह फीचर उन लोगों के लिए काम का साबित होगा जो लगातार आने वाले मैसेज से परेशान हो जाते हैं। फिलहाल व्हाट्सएप में लॉगआउट जैसा कोई फीचर नहीं आता। इंटरनेट ऑन करते ही मैसेज आने लग जाते हैं। यानी वह हमेशा लॉगिन रहते हैं।