इनोवा की बोनट में आग लगने से 1.85 करोड़ हुए बरामद, मामले को सुलझाने में उलझी पुलिस

inova kee bonat mein aag lagane se 1.85 karod hue baraamad, maamale ko sulajhaane mein ulajhee pulis

कार की बोनट से मिले रुपयों के तार प्रतापगढ़ लूट से जुड़े, मामले को सुलझाने में उलझी पुलिस

मध्य प्रदेश के सिवनी में इनोवा की बोनट में आग लगने के बाद बरामद 1.86 करोड़ रुपयों के तार प्रतापगढ़ में हुई लूट से जुड़ गए हैं। बनारस के जिस कारोबारी रिंकू सेठ के रूपये प्रतापगढ़ में लूटे गए थे, सिवनी में बरामद रुपये भी उसी के हैं। सिवनी पुलिस ने कुल 1.85 करोड़ रुपये बरामद करते हुए तीन लोगों को पकड़ा है। कारोबारी ने केवल 40 लाख रुपये ही लूटे जाने की रिपोर्ट दर्ज कराई है। इससे पुलिस उलझ गई है। कारोबारी को सिवनी बुलाया गया है। 

1.85 crore recovered from Innova's bonnet, police involved in solving the case

शनिवार रात प्रतापगढ़ में हुई थी लूट?
शनिवार को प्रतापगढ़ के कुंडा में पुलिस को सूचना मिली कि वाराणसी से दिल्ली सोना खरीदने जा रहे कारोबारी के कर्मचारियों की स्कॉर्पियो समेत लाखों रुपये इनोवा सवार बदमाशों ने लूट लिये हैं। पुलिस ने जांच शुरू की तो कारोबारी की स्कॉर्पियो पड़ोसी जिले कौशांबी में रविवार सुबह लावारिस हालत में बरामद हुई। पहले तो एक करोड़ से ज्यादा लूट की चर्चा हुई। वाराणसी से पहुंचे कारोबारी रिंकू सेठ ने बताया कि 40 लाख रुपये लूटे गए हैं। रिंकू सेठ ने कौशांबी के कोखराज थाने में 40 लाख लूट की ही रिपोर्ट भी दर्ज कराई।

इनोवा की बोनट में आग लगने से 1.85 करोड़ हुए बरामद
इसी बीच रविवार की शाम मध्य प्रदेश के सिवनी में पुलिस ने नेशनल हाइवे से इनोवा सवार तीन लोगों को 1.85 करोड़ रुपयों के साथ पकड़ा। तीनों युवकों ने नोटों के बंडल को कार की बोनट में इंजन के पास छिपाया था। नोटों के कारण कार के बोनट में आग लग गई। बोनट से नोटों के बंडल बाहर निकालते ही 500-500 के अधजले नोट सड़क पर बिखर गए। नोटों को देखकर ग्रामीणों की भीड़ जुटने लगी तो अधजले नोटों को मौके पर छोड़कर तीनों इनोवा लेकर भागने लगे। ग्रामीणों से मिली सूचना पर पुलिस ने नाकेबंदी की और तीनों को कुरई के पास गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए सुनील वर्मा, हरिओम यादव और ग्यास बाबू ने बताया कि रुपये बनारस के कारोबारी रिंकू सेठ के हैं। वह लोग रुपये लेकर मुंबई में सोना खरीदने जा रहे थे। 

सिवनी पुलिस ने कारोबारी को बुलवाया
सिवनी पुलिस ने वाराणसी पुलिस से संपर्क किया और कारोबारी के बारे में पता करने को कहा। इधर से पता चला कि उसी कारोबारी के 40 लाख रुपये प्रतापगढ़ में इनोवा सवारों ने लूट लिये हैं। एक तरफ 40 लाख कू लूट और दूसरी तरफ इनोवा से 1.85 करोड़ बरामद होने से पुलिस उलझ गई। सिवनी पुलिस ने वाराणसी के कारोबारी रिंकू सेठ को मामले को सुलझाने के लिए बुलाया है। खास ये कि सिवनी पुलिस ने जिन तीन युवकों को गिरफ्तार किया है, उसमें से एक कारोबारी के चालक हरिनाथ यादव का सगा भाई हरिओम यादव है। हरिओम यादव के मुताबिक प्रतापगढ़ में लूट नहीं हुई थी, बल्कि हरिनाथ ने बाइक से नोटों की गड्डी उन तक पहुंचाई थी। उसके साथ एक और व्यक्ति था। रुपये लेकर हरिओम, सुनील और ग्यास सिवनी होते हुए मुंबई जा रहे थे। 

हवाला और तस्करी से मामला जुड़ने की आशंका
पुलिस को आशंका है कि पूरा मामला हवाला और सोने की तस्करी से जुड़ा हो सकता है। अगर कारोबारी की स्कार्पियो से ही 1.85 करोड़ रुपये इनोवा सवारों को दिये गए और कर्मचारी ने लूट की अफवाह उड़ाई तो इसके पीछे किसका खेल है? कारोबारी ने 1.85 करोड़ की जगह केवल 40 लाख लूट की रिपोर्ट क्यों दर्ज कराई? पुलिस को आशंका है कि मामला सोने की तस्करी से जुड़ा हो सकता है। पूरा धंधा अवैध तरीके से चलाया जा रहा था। इसकी जानकारी कर्मचारियों को भी थी। ऐसे में कर्मचारियों ने ही कारोबारी के रुपये लूटने की साजिश रची।