इन चार सरकारी बैंकों का होगा निजीकरण, कहीं ये आपके बैंक तो नहीं? - जानें लिस्ट


केंद्र सरकार ने चार सरकारी बैंकों को निजीकरण के लिए चयन किया है। जिन बैंकों को निजीकरण के लिए चयनित किया गया है, उनमें उनमें बैंक ऑफ महाराष्ट्र, बैंक ऑफ इंडिया, इंडियन ओवरसीज बैंक और सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया शामिल हैं। रायटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, इन चार में दो बैंकों का निजीकरण अगले वित्त वर्ष यानी 2021-22 में हो सकता है। हालांकि, सरकार ने अभी निजी होने वाले बैंकों का नाम औपचारिक तौर पर सार्वजनिक नहीं किया है।

सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि केंद्र सरकार बैंक निजीकरण के लिए फिलहाल छोटे बैंकों से कदम आगे बढ़ा सकती है, क्योंकि इससे सराकर को यह अंदाजा हो जाएगा कि बैंकों के निजीकरण में उस किस तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ेगा, क्योंकि यह कदम सरकार से लिए जोखिम से भरा हुआ है। चूंकि, बैंकों के निजीकरण से लोगों की नौकरियां जाने का खतरा है, इस वजह से बैंक यूनियन इसका विरेध कर रहे हैं। सूत्रों ने यह भी बताया कि आने वाले वर्षों में बड़े बैंकों को भी बेचने की प्रक्रिया शुरू हो सकती है।