विनयम पब्लिक स्कूल में बसंत पंचमी के उपलक्ष्य पर सरस्वती आगमन उत्सव मनाया गया।


शिक्षा के साथ बच्चों के शारीरिक विकास के लिए खेलकूद एवं आत्मनिर्भर बनाने के लिए कौशल विकास जरूरी। विष्णु खत्री


विद्या की देवी  मां सरस्वती की पूजा एवं बच्चों द्वारा मां सरस्वती की आराधना  नृत्य के रूप में प्रस्तुत कर सबका मन मोह लिया।

भोपाल
- शिक्षा के साथ बच्चों के शारीरिक विकास एवं आत्मनिर्भर बनाने के लिए कौशल विकास का होना बहुत आवश्यक है। बेरसिया रोड हिनौती स्थित विनयम पब्लिक स्कूल में बसंत पंचमी के उपलक्ष में आयोजित सरस्वती आगमन उत्सव में मुख्य अतिथि बैरसिया के क्षेत्रीय विधायक विष्णु खत्री ने कही उन्होंने कहा कि बच्चों के लिए पढ़ाई के साथ-साथ खेलकूद भी बहुत जरूरी है ।सिर्फ किताबी ज्ञान से एक बेहतर व्यक्तित्व का निर्माण करना संभव नहीं है ।खेल के माध्यम से बच्चों में कौशल विकास बढ़ाने की जानकारी भी दी जा सकती है ।जिससे बच्चों के शारीरिक विकास के साथ आत्मनिर्भर भी बनाया जा सकता है। इससे बच्चों का आत्मविश्वास भी बढ़ेगा वे अपनी रूचि अनुसार पढ़ाई कर देश की सेवा कर पाएंगे। इससे पूर्व विनयम पब्लिक स्कूल में आयोजित सरस्वती आगमन उत्सव का उदघाटन मुख्य अतिथि द्वारा मां सरस्वती के सामने दीप प्रज्वलित कर किया गया। इसके बाद बच्चों द्वारा संस्कृत भाषा का महत्व बताते हुए संस्कृत में सरस्वती वंदना की गई एवं बच्चों द्वारा नृत्य कर मां सरस्वती की आराधना का बेहतरीन प्रस्तुतीकरण दिया गया।


कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए राजेंद्र शर्मा जी ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है ।अगर उन्हें एक अच्छा प्लेटफार्म मिल जाए तो देश में  अपना परचम फैला सकते हैं ।


इसी उद्देश्य के साथ हमने ग्रामीण क्षेत्र में भव्य विद्यालय का निर्माण किया है। ताकि बच्चे पढ़ाई के साथ साथ खेलो एवं कौशल विकास जैसी गतिविधियों से जुड़कर एक नया आयाम बना सके।

बच्चों को स्वस्थ ,स्वच्छ एवं सुरक्षित वातावरण मिल सके। सुश्री रिशिता शर्मा
डायरेक्टर सुश्री रिशिता शर्मा ने सरस्वती आगमन उत्सव में आए मुख्य अतिथि एवं अतिथियों का आभार प्रकट करते हुए कहा कि यह स्कूल नहीं एक गुरुकुल है। स्कूल में बच्चों को प्रकृति के बीच में अच्छे पर्यावरण मे शिक्षा देना हमारा लक्ष्य है ।इसी उद्देश्य को लेकर हमने शहर से दूर विनयम पब्लिक स्कूल कि स्थापना की है।
सरस्वती आगमन उत्सव कार्यक्रम का संचालन स्कूल कि छात्राओं रुचिता भार्गव  एवं वंशिता दांगी द्वारा किया गया। जिसकी मुख्य अतिथि एवं यहां पर पधारे अतिथियों द्वारा भूरी भूरी प्रशंसा की गयी।