Header Ads

ad728
  • Breaking News

    देशव्यापी_ऑनलाइन_हस्ताक्षर_अभियान


    लिंक:https://forms.gle/Jxu6ZoDfwcqvVCJe8
    🖕🖕🖕
    लिंक पर क्लिक कर फॉर्म को भर कर सबमिट करें।

    ● कोरोना से देशभर में बिगड़ती स्थिति चिकित्सा और स्वास्थ्य संबंधी इंतजाम व महत्वपूर्ण सुझावों के साथ प्रधानमंत्री को देशवासियों के हस्ताक्षर सहित  ज्ञापन।

    सेवा में,
    श्री नरेन्द्र दामोदर मोदी 
    माननीय प्रधानमंत्री 
    भारत सरकार 
    नई दिल्ली 

    श्रीमान,

             गंभीर चिंता, पीड़ा और सदमे के साथ हम आपका ध्यान इस अत्यंत दुःखद बात की ओर आकर्षित करना चाहते हैं कि देश कोरोना की पहली लहर के विनाशकारी प्रभाव से उबरने से पहले ही फिर से दूसरी लहर की चपेट में आ गया है। पहली लहर ने हजारों लोगों की जानें ले ली और लाखों-मजदूर बेरोजगार हो गए। उस समय आपकी सरकार आवश्यक उपाय करने हेतु उचित ध्यान देने में पूरी तरह से नाकाम रही, क्योंकि आप 'नमस्ते ट्रम्प समारोह' में व्यस्त थे। 

    इसी बीच पश्चिमी देशों से दूसरी लहर का संकेत दिया गया और आपको निवारक उपायों की तैयारी के लिए कुछ समय मिला, लेकिन फिर भी आपने कुछ नहीं किया, क्योंकि आप राम मंदिर तथा सेंट्रल विस्टा के निर्माण और कुछ राज्यों में हो रहे चुनावों में सैकड़ों करोड़ रुपये खर्च कर सत्ता हथियाने में व्यस्त हो गये। अब देश मानवीय मौतों के जुलूस का गवाह बना हुआ है और यह किसी को नहीं पता कि यह कहां रुकेगा।

          अस्पतालों, बड़ों, आईसीयू, ऑक्सीजन, वेंटिलेटर, दवाओं, डॉक्टरों, नर्सों, मेडिकल स्टाफ आदि की भारी कमी है। लाखों लोग मर रहे हैं। लाखों और मरने वाले हैं। यहां तक कि अनेक लोग अस्पतालों के गेटों पर, सड़कों पर मर रहे हैं। श्मशान भरे हुए हैं। वहां शवों की लंबी कतारें हैं। अनेक का यहां-वहां अंतिम संस्कार हो रहा है। यहां तक कि फेंके गये मानव शवों को सड़क के कुत्ते खा रहे हैं। यह उस देश में अब तक देखी गयी सबसे अभूतपूर्व भयानक तस्वीर है, जो देश खुद को दुनिया में ‘सबसे बड़ा लोकतंत्र’ होने का दावा करता है। क्या यह स्थिति अवश्यंभावी है, अपरिहार्य है?  इस आपराधिक लापरवाही और अमानवीय कृत्य के लिए जिम्मेदार कौन है? अब जब महामारी की दूसरी लहर जारी है और फैल रही है, तो तीसरी लहर का खतरनाक खतरा मंडरा रहा है।

           आगे की तबाही को रोकने के लिए हम, सशस्त्र बलों की तैनाती के जरिये निम्नलिखित उपायों को तुरंत युद्ध स्तर पर लागू करने की मांग करते हैं:-
    1) महानगरों, शहरों और ग्राम पंचायतों के सभी वार्डों में अस्पतालों का निर्माण।
     2) सभी अस्पताल में पर्याप्त बेड, डॉक्टर, नर्स, मेडिकल स्टाफ, ऑक्सीजन की आपूर्ति, वेंटिलेटर और मुफ्त दवा की पर्याप्त व्यवस्था की जाये। 
     3) सेना के अस्पतालों को नागरिकों के इलाज के लिए खोल दिया जाये।
     4) सभी के लिए नि:शुल्क टीकाकरण सुनिश्चित करो।
    5) दवा, ऑक्सीजन आदि की कालाबाजारी पर रोक लगायी जाये।

    हम जानते हैं कि इन सभी उपायों को लागू करने में बड़ी धनराशि की जरूरत है। इसके लिए हमारा सुझाव है :-
     1) ऑक्सफैम रिकॉर्ड के अनुसार भारत में 100 अरबपति हैं, जिन्होंने करोड़ों भारतीयों की मेहनत से भारी संपत्ति अर्जित की है। इनमें 63 लोगों के पास 29 लाख करोड़ रुपये हैं। उनसे कहा जाये कि इस राष्ट्रीय आपदा से निपटने के लिए वे अपनी संपत्ति का कम से कम 50 प्रतिशत का सहयोग करें।
     2) भारत के राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति सहित केंद्र और सभी राज्यों के मंत्री, सांसद तथा विधायक सार्वजनिक धन से मिलने वाले अपने एक वर्ष के वेतन का सहयोग करें।
     3) पीएम केयर फण्ड की संपूर्ण राशि का खुलासा किया जाये और उसे इसके लिए खर्च किया जाये। 
     4) शैक्षिक बजट के अलावा अन्य बजटों में कटौती कर स्वास्थ्य बजट में बढ़ोतरी की जाये।

    उपरोक्त उपायों द्वारा एकत्र किया गया यह विशेष कोष छंटनीग्रस्त मजदूरों, बेरोजगारों और गरीबों को आर्थिक सहायता सहित सम्पूर्ण खर्च को पूरा कर सकता है।
    यह समय की ज्वलंत माँग है।
    आशा है आप इन उपायों को लागू करेंगे

    आपका

    हस्ताक्षर करने के लिए या और जानकारी लेने के लिए संपर्क करें SUCI (C) पार्टी के मध्य प्रदेश राज्य कमेटी सदस्य मुदित भटनागर कांटेक्ट नंबर 9981954747

    Post Top Ad

    ad728

    Post Bottom Ad

    ad728